नेटवर्क क्या है Network कितने प्रकार का होता है?

network
network

आज के मॉडर्न जमाने में सभी के पास स्मार्टफोन और कंप्यूटर लगभग होते ही है आप सभी ने कभी ना कभी नेटवर्क के बारे में जरूर सुना होगा या इससे जानने की इच्छा की होगी| नेटवर्क आमतौर पर तकनीक से रिलेटेड है| आ हम नेटवर्क के बारे में जानने की कोशिश करेंगे कि नेटवर्क क्या है?  नेटवर्क के कितने प्रकार होते हैं?  नेटवर्क की आवश्यकता हमें क्यों पड़ी? 

आमतौर पर Network शब्द का प्रयोग कंप्यूटर के क्षेत्र में अधिक किया जाता है| विभिन्न कंप्यूटरों और Electronic device को जब आपस में जोड़ते हैं तो उस समय network शब्द का प्रयोग करते हैं या उसी श्रंखला को नेटवर्क आ सकते हैं| नेटवर्क के बारे में अधिक  जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें क्योंकि इसके बाद आपको आपके सभी प्रश्नों के उत्तर मिल जाएंगे|

नेटवर्क क्या है? (What is Network in Hindi)

Network- Computer और Devices  का group  है जो एक कम्युनिकेशन चैनल से जुड़े रहते हैं|  इसके जरिए यूजर डाटा, जानकारी, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को दूसरे यूजर्स के साथ शेयर कर सकता है|  निजी व संस्थानिक कंप्यूटरों को कई वजहों से एक ट्रक में जोड़ा जाता है|  इसमें डाटा, जानकारी,  हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर को शेयर करने की और कम्युनिकेशन स्थापित करने की क्षमता होती है|

नेटवर्क के प्रकार (Types of Network in Hindi)

Network ke type

मुख्य रूप से नेटवर्क तीन प्रकार के होते हैं- LAN, MAN, W AN|यह नेटवर्क निजी, बिजनेस हाउसेस और संस्थाओं द्वारा इस्तेमाल किए जाते हैं|  क्योंकि हर बिजनेस और संस्था की अपनी जरूरत होती है और  इसीलिए हर नेटवर्क अपने आप में यूनिक होता है|

 गौर करने वाली बात यह है कि नेटवर्क का साइज इस बात पर निर्भर करता  है कि बिजनेस हाउस अथवा संस्था किस तरह के नेटवर्क इस्तेमाल करना चाहती है|  अलग-अलग साइज के नेटवर्क डाटा को अलग-अलग तरह से  ट्रांसमिट करते हैं|

 एक उदाहरण से समझने का प्रयास करते हैं कि मान लीजिए 1000 यूजर वाली संस्था का नेटवर्क अलग तरह से व्यवस्थित रहता है और उसे Different Components  की जरूरत होती है जो कि उस नेटवर्क में नहीं होती जिस में भी केवल 5 यूजर ही हो|

  • LAN: LAN का फुल फॉर्म LOCAL AREA NETWORK है| ऐसा कंप्यूटर नेटवर्क जिसमें दो या दो से अधिक कंप्यूटर Physically एक दूसरे से जुड़े रहते हैं लोकल एरिया नेटवर्क कहलाता है| जुड़े हुए कंप्यूटर Workstation कहलाते हैं| इसमें कंप्यूटर एक दूसरे से इसलिए जुड़े रहते हैं ताकि महंगे Devices जैसेLazer Printer का संयुक्त रूप से इस्तेमाल कर सकें, सरवर में मौजूद Database और Applicaion सभी Workstation के लिए उपलब्ध हो सके| Local area networks के पास अपनी करैक्टेरिस्टिक्स टोपोलॉजी जैसे- Srar, Ring, Bus होती है और भी एक साथ अधिक नेटवर्किंग प्रोटोकॉल जैसे Apple, Talk, Ethernet अथवा TCP/IP लागू कर सकते हैं|
  • MAN: MAN का fullform metropolitan area network है| यह एक हाई स्पीड नेटवर्क है जो 200mbps तक की स्पीड से Voice, data, और images को तेजी से 75 किलोमीटर की दूरी तक के एरिया के कुछ ब्लॉक अथवा पूरे शहर में ले जा सकता है| Transmission speed नेटवर्क के Architechture पर Depend करती है और यह कम दूरी के लिए ज्यादा हो सकती है| MAN मैं एक या अधिक LAN यहां तक कि telecommunication devices जैसे  microwaves, satellites आदि शामिल रहते हैं| 
  • WAN: WAN is acronym as Wide area Network. WAN एक कंप्यूटर नेटवर्क है जो अपनी लंबी दूरी तक कम्युनिकेशन क्षमता के कारण LAN, MAN से काफी अलग होता है| इस नेटवर्क में पूरा देश और बड़ी बहुराष्ट्रीय कंपनियों की सभी साहित्य कवर हो सकती हैं| WAN का इस्तेमाल लोकल एरिया नेटवर्क और अन्य नेटवर्क ओं को एक दूसरे से जोड़ने के लिए होता है ताकि एक जगह पर बैठा कोई यूजर अपने कंप्यूटर के जरिए दूर कहीं बैठे किसी दूसरे ज्यादातर WAN किसी संस्था विशेष द्वारा बनाए जाते हैं और कुछ भी होते हैं| अन्य Intenet service provider (ISP) द्वारा बनाए जाते हैं और किसी संस्था के कनेक्शन देकर उसे इंटरनेट से जोड़ते हैं कम्युनिकेशन आमतौर पर एक या अधिक राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय सरकारी कार्यों द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं|

नेटवर्क की संरचना (Structure of Network in Hindi)

नेटवर्क की संरचनाएं स्ट्रक्चर यह बताता है कि नेटवर्क किस तरह से डिजाइन किया गया है|  यह Network Topology  के रूप में भी जाना जाता है|  नेटवर्क स्ट्रक्चर  मैं 2-Phase  होते हैं: Physical और logical|  BUS, Ring, Star, Mesh or Hybid नेटवर्क स्ट्रक्चर के चार प्रमुख प्रकार हैं|

Logical level  उस रास्ते के बारे में बताता है जिसके जरिए इंफॉर्मेशन  नेटवर्क में एक स्थान से दूसरे स्थान में pपहुंचती है|  यह कई बातों पर निर्भर करता है जैसे कि कौन सा Application  जमाल हो रहा है और नेटवर्क में इंफॉर्मेशन के speed  से ट्रांसफर हो रही है|  कंप्यूटर इनफार्मेशन को इलेक्ट्रिकल सिग्नल का आदान प्रदान करके  शेयर करते हैं| Signal Transmission medium  के रास्ते भेजे जाते हैं जो कंप्यूटर को जोड़ता है|

  • Star Network Structure in Hindi

Star Network सबसे आम कंप्यूटर नेटवर्क टोपोलॉजी में से एक है|  कितने कंप्यूटर एक केंद्रीय नेटवर्क कनेक्टर से जुड़े रहते हैं, जो आमतौर पर एक HUB या, Switch  होता है|  नेटवर्क में शामिल किसी भी कंप्यूटर द्वारा दूसरे कंप्यूटर को भेजी जाने वाली सूचनाएं HUB या Switch से होकर जाती हैं|

 स्टार नेटवर्क में प्रत्येक कंप्यूटर को जहां तक संभव हो Central Network Connector के पास होना चाहिए| Computer and Connector के बीच Cable की लंबाई 100 मीटर से कम होनी चाहिए| HUB  या switch  आमतौर पर 24 कंप्यूटर रोहतक से जुड़े होते हैं|  एक बड़ी Building  में फैले ऑफिस में या देखा गया है कि Building  कि हर  फ्लोर पर अपना खुद का एक HUB  होता है| HUB  इस तरह एक बड़े  लोकल एरिया नेटवर्क से जुड़े हो सकते हैं

  • BUS Network Structure in Hindi 

एक Bus Network  ऐसा स्ट्रक्चर होता  है  जिसमें Client  कंप्यूटरों  का पूरा का पूरा सेट एक संयुक्त कम्युनिकेशन लाइन से जुड़ा हुआ होता है|  एक समय में केवल एक कंप्यूटर सूचना भेज सकता है|  जब कंप्यूटर इनफॉरमेशन ट्रांसफर करता है तो इंफॉर्मेशन केबल की पूरी लंबाई में घूमती है|  जिस कंप्यूटर को वह इंफॉर्मेशन भेजी गई है वह उसे रिसीव कर लेता है|

  • Ring Network Structure in Hindi

Ring Network मैं आमतौर पर कंप्यूटर एक दूसरे के पास ही रखे होते हैं|  यह सेट अप के लिहाज से आसान है क्योंकि इसमें Cable  की एक अकेली रिंग से सारे कंप्यूटर जुड़े होते हैं और किसी Central Connector जैसे HUB  आदि कि इसमें जरूरत नहीं होती है|  रिंग नेटवर्क का कोई आरंभ या अंत नहीं होता है क्योंकि यह एक ही Cable से आपस में जुड़े होते हैं|

नेटवर्क की जरूरत(Need Of Network in Hindi) 

  • हार्डवेयर शेयर करने के लिए- 

एक नेटवर्क में शामिल प्रत्येक कंप्यूटर हार्डवेयर को एक्सेस करके उसका इस्तेमाल कर सकते हैं|  उदाहरण के लिए मान लीजिए कि एक नेटवर्क में कई सारे कंप्यूटर शामिल है और हर कंप्यूटर को लेजर प्रिंटर की जरूरत होती है|  ऐसे में नेटवर्क से जुड़े एक ही लेजर प्रिंटर का हर कंप्यूटर इस्तेमाल कर सकता है|

  •  डाटा और जानकारी को शेयर करने के लिए

एक नेटवर्क में शामिल किसी भी कंप्यूटर पर कार्य करते समय कोई भी Valid User  किसी भी दूसरे कंप्यूटर में Store Data  और information  तक पहुंचकर उनका इस्तेमाल कर सकता है|  उदाहरण के लिए किसी कंप्यूटर इंफॉर्मेशन का डेटाबेस सर्वर किसी हार्ड डिस्क में सेव हो सकता है|  

नेटवर्क में शामिल कोई भी Valid user  यहां तक कि handheld computer  का इस्तेमाल करने वाला मोबाइल यूज़ अभी इस डेटाबेस तक पहुंच सकता है और इसका इस्तेमाल कर सकता है|  स्टोरेज डाटा और इंफॉर्मेशन तक पहुंचकर उनका इस्तेमाल करने की सुविधा कई नेटवर्क ओं का बहुत ही महत्वपूर्ण फीचर होता है|

  •  सॉफ्टवेयर शेयर करने के लिए

सॉफ्टवेयर शेयरिंग में बहुत ज्यादा इस्तेमाल होने वाले सॉफ्टवेयर सरवर की हार्ड डिस्क में स्टोर रहते हैं ताकि नेटवर्क में शामिल एक साथ कई दिन तक पहुंचकर इनका इस्तेमाल कर सकें|  जब आप किसी सॉफ्टवेयर पैकेज का नेटवर्क खरीदते हैं, तो सॉफ्टवेयर आपको एक लीगल ईशु करता है|

 एक साथ सॉफ्टवेयर करने की इजाजत देता है नेटवर्क में शामिल कंप्यूटर संख्या के आधार पर की जाती है|  कंप्यूटर के लिए अलग से सॉफ्टवेयर उनका खर्च लगभग बराबर होता है|

  • Facilitated Communication

नेटवर्क का इस्तेमाल कर लोग प्रभावशाली और आसान ढंग से ईमेल, इंस्टेंट मैसेज, चैट रूम, टेलीफोन, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कम्युनिकेट कर सकते हैं|  यह मेल मैसेज आमतौर पर तुरंत डिलीवर होते हैं|  कभी-कभी यह कम्युनिकेशन एक बिजनेस नेटवर्क में भी काम आता है| 

नेटवर्क के साइज की पूरी रेंज होती है एक छोटा नेटवर्क 2 कंप्यूटरों को आपस में जोड़ता है तो ग्लोबल नेटवर्क जैसे इंटरनेट में दुनिया के लाखों कंप्यूटर आपस में जुड़े होते हैं|  नेटवर्क सभी तरह के कंप्यूटरों को आपस में जोड़ता है चाहे वह हैंडहेल्ड कंप्यूटर हो या सुपर कंप्यूटर| 

Conclusion: 

इस लेख  के माध्यम से आज हम लोगों ने नेटवर्क के बारे में जानकारी हासिल की  है|  नेटवर्क से जुड़ी जानकारी जैसे-  नेटवर्क क्या है?  नेटवर्क प्रकार, नेटवर्क की आवश्यकता आदि नेटवर्क संबंधित जानकारियों के बारे में चर्चा की गई है| अगर आपको इस टॉपिक से जुड़े किसी अन्य प्रकार के प्रश्न पूछने हैं तो आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की कोशिश करेंगे| साथ ही आप यह भी बताएं कि आपको यह लेख कैसा लगा ताकि हमारा उत्साहवर्धन हो सके,  धन्यवाद|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here